• info@thesyaahi.com

Farewell…….

#Farewell…..
सुनने में तो ये ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं लगता पर अब शायद याद सी आ रही है |
बी.आर.डी. में जब दाखिला हुआ तो मैं शायद कुछ लोग को ही जानता था फिर धीरे धीरे सबसे परिचय हुआ | पहला साल तो सोचता था कि कब यहां से निकलूंगा | हमलोगो को पहले साल बहुत प्यार से पढाया गया दूसरे साल आते आते सभी सर लोग जान गए कि बी.काम. 2 वाले कैसे हैं और पूरे कालेज में सबको बता दिया गया था कि कॉलेज का सबसे बदनाम क्लास द्वितीय वर्ष ही है | उस समय शायद हमलोगों को पढ़ाने के लिए कोई तैयार भी नही होता था लेकिन हमलोगों को किसी भी तरह पढाया गया और हमलोग द्वितीय वर्ष भी उत्तीर्ण हो गए |
अब आया अंतिम वर्ष जिसमे हमलोग बहुत खुश थे कि चलो इस वर्ष अब बी.आर.डी. छोड़ देंगे पढाई स्टार्ट हुआ शायद सबसे ज्यादा दोस्ती यही हुई और दोस्ती इस प्रकार थी कि दूसरे के मुंह से अगर दोस्तों के प्रति कुछ भी सुनता था तो उससे लड़ जाता वैसे दोस्ती में मनमुटाव भी हुआ क्लास में सबका मजा लेना,किसी भी सर को कुछ दिन बोल देना , सर से बार बार पेज नम्बर पूछना और फिर आया हमलोगों का विदाई पहले तो मैं खुश था कि चलो अब सही होगा पर मुझे क्या पता था कि विदाई के बाद क्या होगा ? कल विदाई तो हो गई पर आज मुझे ऐसा लग रहा है कि मेरा कुछ अपना खो गया है , मन नहीं लग रहा अफसोस इस बात का हो रहा है कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब 3 साल गुजर गए | शायद बड़े लोग सही कहते थे कि बाबू समय गुजरेगा लेकिन पता नहीं चलेगा | अब याद आ रही उनकी जिनसे हम लड़ा करते थे भाई अब किससे लड़ेंगे यार | अब पार्टी किसके साथ करेंगे , अब सर पढ़ाएंगे तो हँसेगा कौन अब पीछे वाले डेस्क पर बैठेगा कौन | मुझे पता है कि मेरे लिखने से कुछ हासिल तो होने वाला नहीं है पर यार अभी परीक्षा बाकी है लेकिन मुझे अब रुलाई आ रही | हमने हंसी मजाक में सर को भी बहुत बोला और एक दोस्त भी बोल रहा था कि यार ये ज्यादे दिनों तक नही होगा जबतुम अपने कामों में लग जाओगे तो सब कुछ भूल जाओगे | भाई मैं कहता हूं तुम सब कहानी थोड़े न हो कि भूल जाएंगे तुमसब इतिहास हो जो हमेशा याद आओगे | जबभी अकेला रहूँगा याद करता रहूंगा, रोता रहूँगा, और तुम सबकी यादों को गुनगुनाता रहूँगा……………
😭😭😭

Tags: , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *